काम की खबरकृषिबागवानी

वर्टिकल फार्मिंग क्या है? यहां जानें | vertical farming in hindi

वर्टिकल फार्मिंग विधि से खेती करने के लिए खेत की आवश्यकता नहीं होती है। इस विधि में दीवारों पर भी खेती कर सकते हैं।

vertical farming: वर्टिकल फार्मिंग क्या है? यहां जानें इस खेती की संपूर्ण जानकारी

vertical farming in hindi: बढ़ती जनसंख्या के साथ कृषि योग्य भूमि की कमी होती जा रही है। ऐसे में वर्टिकल फार्मिंग (vertical farming) कम जगह में अधिक पौधों को लगाने का एक अनोखा तरीका है। वर्टिकल फार्मिंग को खड़ी खेती के नाम से भी जाना जाता है। 

तो आइए, द रुरल इंडिया के इस लेख में वर्टिकल फार्मिंग क्या है? इस खेती के बारे में विस्तार से जानें।

वर्टिकल फार्मिंग क्या है? (What is Vertical Farming?)

वर्टिकल फार्मिंग एक आधुनिक कृषि तकनीक है। इस विधि से खेती करने के लिए खेत की आवश्यकता नहीं होती है। हम अपनी घर की दीवारों पर भी खेती कर सकते हैं। यह एक तरह की मल्टी लेवल विधि (multilayer farming) है।

वर्टिकल फार्मिंग कैसे की जाती है?

  • खड़ी विधि से खेती करने के लिए दीवार पर एक बहु-सतही ढांचा तैयार किया जाता है।
  • इस ढांचे के निचले हिस्से में पानी से भरा टैंक होता है।
  • टैंक के ऊपर कई सतह (लेयर) में छोटे-छोटे गमले लगाए जाते हैं।
  • इन गमलों में सब्जियों एवं अन्य फसलों को लगाया जाता है।
  • सभी गमलों में पम्प के द्वारा टैंक से पानी पहुंचाया जाता है।

वर्टिकल फार्मिंग के फायदे (Advantages of Vertical Farming)

  • कम जगह में अधिक पौधों को लगाया जा सकता है।
  • खाली दीवार का अच्छा उपयोग किया जा सकता है।
  • खेत की जुताई में लगने वाले समय एवं श्रम में कमी आती है।
  • कम लागत में अधिक पैदावार प्राप्त कर सकते हैं।
  • सिंचाई के समय पानी की बचत होती है।
  • फल एवं सब्जियां अधिक पौष्टिक होती हैं।
  • घरों में वर्टिकल फार्मिंग करने से गर्मी के मौसम में घर के अंदर तापमान अधिक गर्म नहीं होता।
  • हवा में नमी बनी रहती है।
  • प्रदूषण में कमी आती है।

Related Articles

Back to top button