पशुपालनबिजनेस आइडिया

ये हैं मुर्गी पालन के लिए 3 नस्लें, होगा दोगुना मुनाफा

आज हम आपको इस ब्लॉग 3 देसी मुर्गियों के नस्ल के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसका चुनाव आप देसी मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए कर सकते हैं। 

desi poultry farming and breeds: मुर्गी पालन में भारत विश्व में अग्रणी देशों में शामिल है। अंडा उत्पादन में भारत चीन और अमेरिका के बाद तीसरे स्थान पर है जबकि मांस उत्पादन में 5वें स्थान पर है। हमारे देश में प्राचीन काल से देसी मुर्गी पालन (desi poultry farming) किया जाता रहा है।
 

मुर्गी पालन एक ऐसा व्यवसाय (desi poultry farming business) जिसे किसान छोटे स्तर यानी 10 से 12 मुर्गियों के पालन से शुरु कर सकते हैं। मुर्गियों का पालन किसान घर के पीछे, आंगन या घर या खेत में खाली पड़ी जमीन पर भी कर सकते हैं।

आज हम आपको इस ब्लॉग 3 देसी मुर्गियों के नस्ल के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसका चुनाव आप देसी मुर्गी पालन व्यवसाय के लिए कर सकते हैं। 

वनराजा नस्ल

वनराजा नस्ल(vanaraja murgi palan)

वनराजा एक प्राचीन नस्ल है। इस मुर्गी का मांस स्वादिष्ट एवं कम चर्बी वाला होता है। इसे देशी मुर्गियों में सबसे अच्छी माना जाता है। यह मुर्गी सालाना 120 से 140 अंडे देती है। इस नस्ल की मुर्गे का औसत वजन 2 से 4 किलो तक हो जाता है। 

ग्रामप्रिया नस्ल

ग्रामप्रिया नस्ल (gram priya murgi)

ग्रामप्रिया नस्ल की अण्डों का रंग भूरा और उसका वजन 57 से 60 ग्राम होता है। इन मुर्गियों से अंडा और मांस दोनों मिलता है। इसका उपयोग तन्दूरी डिस बनाने में भी किया जाता है। एक साल में लगभग 210 से 225 अण्डे देने की क्षमता होती है। यह घर के पिछवाड़े और बगीचे में पालन करने के लिए काफी उपयुक्त है। ग्रामप्रिया नस्ल का वजन 12 हफ्तों में 1.5 से 2 किलोग्राम तक हो जाता है। 

श्रीनिधि नस्ल

श्रीनिधि नस्ल

इस नस्ल की मुर्गियां बहुत जल्दी विकसित होती हैं। इन मुर्गियों के मांस और अंडे दोनों से अधिक मुनाफा कमाया जा सकता है। यह बहुत ही कम समय में ठीक-ठाक मुनाफा देने लगती हैं।

अगर आप 10 से 15 मुर्गियों के साथ इसके बिजनेस की शुरुआत करते हैं, तो आपको 40 से 50 हजार रुपये की लागत आएगी। पूरी तरह से विकसित होने के बाद इन्हें बाजार में बेचने पर आपको लागत से दो गुना ज्यादा मुनाफा मिल सकता है।

 

👉 मुर्गी पालन या पशुपालन से संबंधित अन्य ब्लॉग/लेख पढ़ने के लिए आज ही द रूरल इंडिया वेबसाइट विजिट करें।

Related Articles

Back to top button